अगर डेली डाइट में शामिल करते हैं प्रोटीन पाउडर तो इन टिप्स को करें फॉलो

0
11
अगर डेली डाइट में शामिल करते हैं प्रोटीन पाउडर तो इन टिप्स को करें फॉलो


आज के दौर में फिटनेस को अहमियत (Importance) देने वाले युवाओं के लिए प्रोटीन बॉडी बिल्डिंग सप्लीमेंट बन गया है. हर दिन डाइट में प्रोटीन शामिल करने की ज़रूरत की वजह से लोग, एक साथ काफी मात्रा में प्रोटीन पाउडर खरीद लेते हैं. ये जाने बिना कि ये पाउडर सही है या नहीं. वहीं पहली बार जिम ज्वॉइन करने वाले या पहले बार प्रोटीन खरीदने की इच्छा रखने वाले युवा इस बारे में जानकारी (Knowledge) नहीं रखते हैं कि बाजार में कौन-कौन से प्रोटीन पाउडर मौजूद हैं. यहां हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताएंगे जिसे फॉलो करके आप सही प्रोटीन पाउडर का चुनाव (Select) कर सकते हैं.

कैसे करें असली-नकली प्रोटीन पाउडर की पहचान

एक चम्मच प्रोटीन पाउडर को एक ग्लास सादे पानी में घोलकर देखें. अगर ये डिज़ाल्व होने में ज्यादा देर लगाता है या पूरी तरह से डिज़ाल्व नहीं होता है तो ये असली प्रोटीन नहीं हैं.

असली प्रोटीन पाउडर डिज़ाल्व होने में समय नहीं लगाता और पानी में पूरी तरह से घुल जाता है. असली और नकली प्रोटीन पाउडर के स्वाद में भी कुछ फर्क महसूस होता है. नकली प्रोटीन पाउडर का स्वाद मीठे पानी की तरह लगता है.असली की पहचान करने के लिए आप प्रोटीन के बॉक्स पर लगे होलोग्राम को चेक कर सकते हैं. साथ ही बॉक्स पर लगे बार कोड को स्कैन करके देख सकते हैं.

जब प्रोटीन खरीदें तो जिस कम्पनी का ले रहे हैं उसकी स्पेलिंग अच्छी तरह देख लें. क्योंकि कुछ नकली प्रोडक्ट बनाने वाले एक-दो अक्षर को आगे-पीछे छाप कर असली कंपनी जैसा रूप देने की कोशिश करते हैं. लोग जल्दी में अक्सर इस पर ध्यान नहीं देते.

ये भी पढ़ें: सिक्स पैक एब्स पाने के लिए जिम के साथ इन चीजों को करें रूटीन डाइट में शामिल

कौन से प्रोटीन पाउडर हैं बाजार में

-व्हे प्रोटीन प्रोटीन सबसे ज्यादा फेमस है ये अच्छी क्वालिटी का कंप्लीट प्रोटीन है जो दूध से तैयार किया जाता है. इसमें ल्युसिन, एमिनो एसिड, ब्रांच्ड एमीनो एसिड्स और ग्लूटामिन जैसे एमिनो एसिड पाए जाते हैं.

-कैसीन प्रोटीन भी काफी पॉप्युलर प्रोटीन है और ये भी दूध से ही तैयार किया जाता है. लेकिन इसको डाइजेस्ट करने में काफी समय लगता है.

-मास गेनर भी प्रोटीन पाउडर के रूप में इस्तेमाल किया जाता है. ये फुल प्रोटीन नहीं होता बल्कि एक तरह का मिक्चर होता है.

-प्रोटीन पाउडर के तौर पर सोया प्रोटीन भी इस्तेमाल होता है. इसको सोयाबीन के ज़रिये तैयार किया जाता है. इसमें सभी जरूरी एमिनो एसिड पाए जाते हैं.

-राइज़ प्रोटीन भी बाजार में उपलब्ध है इसको ब्राउन राइज़ से तैयार किया जाता है. ये कम्प्लीट प्रोटीन नहीं माना जाता लेकिन पचने में आसान होता है.

-पी प्रोटीन भी काफी लोग इस्तेमाल करते हैं ये पीली मटर से तैयार किया जाता है जिसका इस्तेमाल ज्यादातर शाकाहारी लोग करना पसंद करते हैं.

-एग प्रोटीन काफी पसंद किया जाता है ये अंडे के सफ़ेद भाग से तैयार किया जाता है. ये कम्प्लीट प्रोटीन माना जाता है जो थोड़ा महंगा आता है.

ये भी पढ़ें: रफ एंड टफ पुरुष भी गर्मी में ऐसे रखें अपनी स्किन का ख्याल

कहां से खरीदें सही प्रोटीन पाउडर

-प्रोटीन पाउडर खरीदने के लिए किसी चलताऊ दुकान की बजाय डिपार्टमेंटल स्टोर्स को चुने.

-अगर आप चाहें तो किसी ऑथेंटिक शॉपिंग एप के ज़रिये भी प्रोटीन पाउडर मंगवा सकते हैं.

-बेहतर होगा कि आप किसी ऑथोराइज़्ड डीलर से ही प्रोटीन खरीदें. डीलर से संपर्क करने के लिए कई अच्छी प्रोटीन कम्पनियां अपनी वेबसाइट पर ऑथोराइज़्ड डीलर के नम्बर्स मेंशन करती हैं. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here