Home Latest Feeds Technology News कहा- फाइनेंशियल सर्विस भी देगी कंपनी, इसलिए ट्विटर नाम का कोई मतलब नहीं था | Twitter Vs X Corp | Elon Musk On Twitter’s Blue Bird Replacement

कहा- फाइनेंशियल सर्विस भी देगी कंपनी, इसलिए ट्विटर नाम का कोई मतलब नहीं था | Twitter Vs X Corp | Elon Musk On Twitter’s Blue Bird Replacement

0
कहा- फाइनेंशियल सर्विस भी देगी कंपनी, इसलिए ट्विटर नाम का कोई मतलब नहीं था | Twitter Vs X Corp | Elon Musk On Twitter’s Blue Bird Replacement

[ad_1]

वॉशिंगटन36 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

एलन मस्क ने ट्विटर का नाम ‘X’ क्यों किया इसके कारण बताए हैं। एक ट्वीट का रिप्लाई करते हुए मस्क ने लिखा, आने वाले महीनों में ट्विटर सभी तरह की फाइनेंशियल सर्विस प्रोवाइड करेगी। ऐसे में ट्विटर नाम का कोई मतलब नहीं है, इसलिए हमने चिड़िया को हटा दिया। एक दिन पहले यानी सोमवार को मस्क ने ट्विटर का नाम बदला है।

मस्क ने ये भी कहा कि ट्विटर नाम तब तक ठीक था जब प्लेटफॉर्म पर 140 कैरेक्टर तक ही पोस्ट किए जा सकते थे। लेकिन अब आप लगभग कुछ भी पोस्ट कर सकते हैं। इसमें कई घंटों का वीडियो भी शामिल है।’ मस्क ने हाल ही में पोस्ट की कैरेक्टर लिमिट बढ़ाकर 25,000 की थी।

खबर में आगे बढ़ने से पहले पोल में शामिल होकर अपनी राय दे सकते हैं…

1999 से मस्क का लेटर X से नाता
एलन मस्क का X लेटर से नाता साल 1999 से है। तब उन्होंने एक ऑनलाइन बैंकिंग कंपनी X.com बनाई थी। इसे बाद में एक अन्य कंपनी के साथ मर्ज कर दिया जो पेपाल बनी। साल 2017 में मस्क ने PayPal से यूआरएल “X.com” को फिर से खरीदा था।

उन्होंने कहा था कि इस डोमेन का उनके लिए “बहुत भावुक मूल्य है।” उनकी एक और कंपनी spacex में भी एक्स की झलक दिखती है। उनकी नई AI कंपनी का नाम भी XAI है। 2020 में, मस्क ने अपने एक बेटे का नाम X Æ A-12 मस्क रखा था। Æ का उच्चारण “ऐश” होता है।

साल 1999 में एलन मस्क ने x.com नाम की एक ऑनलाइन बैंकिंग कंपनी बनाई थी जो बाद में मर्ज होकर पेपाल बनी।

साल 1999 में एलन मस्क ने x.com नाम की एक ऑनलाइन बैंकिंग कंपनी बनाई थी जो बाद में मर्ज होकर पेपाल बनी।

नीली चिड़िया हटाकर डॉग को ट्विटर का लोगो बनाया था
4 महीने पहले एलन मस्क ने ट्विटर की नीली चिड़िया हटाकर एक डॉग को ट्विटर का लोगो बनाया था। उन्होंने एक ट्वीट में कहा था- जैसा वादा किया था, वह पूरा किया। हालांकि बाद में उन्होंने दोबारा नीली चिड़िया को ट्विटर लोगो बना लिया था।

ट्विटर CEO बनने के बाद मस्क के 4 बड़े फैसले…
एलन मस्क ने पिछले साल 27 अक्टूबर 2022 को 44 बिलियन डॉलर में ट्विटर खरीदा था। इसके बाद कई बड़े फैसलों को लेकर मस्क चर्चा में रहे…

1. आधे से ज्यादा कर्मचारियों को निकाला
ट्विटर खरीदने के बाद मस्क ने सबसे पहले कंपनी के चार टॉप ऑफिशियल्स को निकाला था। इनमें CEO पराग अग्रवाल, फाइनेंस चीफ नेड सेगल, लीगल एग्जीक्यूटिव्स विजया गड्डे और सीन एडगेट शामिल थे। जब मस्क ने ट्विटर की कमान संभाली थी, तो उसमे करीब 7500 एम्प्लॉई थे, लेकिन अब 2500 के करीब ही बचे हैं।

2. कई ब्लॉक अकाउंट को अन-ब्लॉक किया
नवंबर 2022 में मस्क ने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप समेत कई ब्लॉक अकाउंट को अनब्लॉक कर दिया था। उन्होंने ट्विटर पर ट्रम्प की वापसी को लेकर एक पोल किया था। उन्होंने पूछा था, क्या प्रेसिडेंट ट्रंप का अकाउंट बहाल किया जाना चाहिए। हां या ना। 1.5 करोड़ से ज्यादा यूजर्स ने वोटिंग में हिस्सा लिया और 52% लोगों ने हां में जवाब दिया था।

3. ब्लू सब्सक्रिप्शन सर्विस लॉन्च की
एलन मस्क ने दुनियाभर में ब्लू सब्सक्रिप्शन लॉन्च किया है। भारत में वेब यूजर्स के लिए ब्लू सब्सक्रिप्शन कॉस्ट 650 रुपए है। मोबाइल के लिए सब्सक्रिप्शन चार्ज 900 रुपए महीना है। इसमें ब्लू टिक, लंबे वीडियो पोस्ट समेत कई सारे फीचर्स मिलते हैं।

4. कैरेक्टर लिमिट बढ़ाई, पोस्ट पढ़ने की लिमिट
मस्क ने पोस्ट की कैरेक्टर लिमिट 280 से बढ़ाकर 25,000 कर दी है। पोस्ट पढ़ने की लिमिट भी अप्लाय की है। वेरिफाइड यूजर एक दिन में सिर्फ दस हजार पोस्ट पढ़ सकते हैं। अनवेरिफाइड यूजर एक हजार पोस्ट, वहीं नए अनवेरिफाइड यूजर रोजाना सिर्फ 500 पोस्ट ही पढ़ सकते हैं।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here