Home Latest Feeds Technology News टिम कुक ने कहा, आईफोन बेचने के लिए सबसे बेहतरीन जगह है भारत | India name echoed in Apple important meeting

टिम कुक ने कहा, आईफोन बेचने के लिए सबसे बेहतरीन जगह है भारत | India name echoed in Apple important meeting

0
टिम कुक ने कहा, आईफोन बेचने के लिए सबसे बेहतरीन जगह है भारत | India name echoed in Apple important meeting

[ad_1]

7 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
एपल के CEO टिम कुक नमस्ते करते हुए- फाइल फोटो - Dainik Bhaskar

एपल के CEO टिम कुक नमस्ते करते हुए- फाइल फोटो

टेक कंपनी एपल के CEO टिम कुक ने कंपनी के मार्च तिमाही के रिजल्ट के दौरान 20 बार भारत का नाम लिया। कुक ने कहा कि एपल के लिए भारत न सिर्फ बहुत बड़ा बाजार बन सकता है, बल्कि एक मजबूत प्रोडक्शन बेस बनने का दम रखता है।

कॉन्फ्रेंस कॉल में उनके साथ कंपनी का पूरा सीनियर मैनेजमेंट मौजूद था। कंपनी ने अब अपना फोकस चीन से हटाकर भारत की ओर कर लिया है। कुक ने पिछले महीने भारत के मुंबई और दिल्ली में एक्सक्लूसिव स्टोर की ओपनिंग की थी।

कुक ने कहा, ‘दोनों स्टोर की ओपनिंग शानदार तरीके से हुई है और उम्मीद हैं कि भारत के दोनों स्टोर दुनिया में मौजूद बाकी स्टोर्स के मुकाबले बेहतर रिजल्ट देंगे।’

दिल्ली का साकेत स्टोर ओपनिंग के बाद एपल CEO टिम कुक ने हाथ जोड़कर सभी का स्वागत किया।

दिल्ली का साकेत स्टोर ओपनिंग के बाद एपल CEO टिम कुक ने हाथ जोड़कर सभी का स्वागत किया।

डबल डिजिट में मिली ग्रोथ, भारत पर पूरा फोकस
एपल ने भारत में मार्च तिमाही में सेल्स और रेवेन्यू के मामले में नया रिकॉर्ड कायम किया है। सालाना आधार पर कंपनी की ग्रोथ डबल डिजिट में हुई है। कुक ने क्वार्टर्ली रिजल्ट घोषित करते हुए कहा कि भारत का मार्केट तेजी के साथ ग्रो कर रहा है, जिसे देख वे हैरान हैं।

उन्होंने कहा कि वो अपने ऑपरेशनल पार्ट को एक्सपैंड करेंगे। ताकि कस्टमर सर्विस में किसी तरह की कोई कमी ना रह सके।

मार्च से तिमाही के लिए 94.8 बिलियन डॉलर का रेवेन्यू
कंपनी ने मार्च से तिमाही के लिए 94.8 बिलियन डॉलर का रेवेन्यू दर्ज किया। ये पिछले क्वार्टर की तुलना में 3% कम है। पिछले क्वार्टर में रेवेन्यू 97.28 बिलियन डॉलर दर्ज किया गया था। इसमें आईफोन की बिक्री का 51.3 बिलियन डॉलर का कॉन्ट्रीब्यूशन है।

पिछले क्वार्टर में आईफोन की सेल्स से 48.84 बिलियन डॉलर का रेवेन्यू आया था। एपल का नेट प्रॉफिट साल-दर-साल 3% गिरकर 24.1 बिलियन डॉलर हो गया। कुक ने कहा कि वह उभरते बाजारों में प्रदर्शन से खास तौर पर खुश हैं। एपल का रिजल्ट मार्केट के अनुमानों से बेहतर रहा है।

एपल के लिए भारत बेहतरीन बाजारों में से एक : कुक
कंपनी के ओवरऑल ग्रोथ में भारत के बढ़ते महत्व को दिखाया है। कुक ने कहा, ‘भारत में मिडिल क्लास लोगों की बहुत बड़ी संख्या है और मुझे लगता है कि एपल के लिए भारत बेहतरीन बाजारों में से एक है। भारत के लोगों में गजब की उर्जा है।’

एक साल में कंपनी ने भारत में कई मैन्युफैक्चरिंग प्लांट खोले
ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार एपल ने भारत में पिछले साल 6 अरब डॉलर के स्मार्टफोन बेचे थे। भारत में एपल के स्मार्टफोन मैन्युफैक्चरिंग के लिए कई कंपनियां तैयार हैं और यहां आसानी से वर्कर मिलने की वजह से टिम कुक भारत पर बड़ा दांव लगा रहे हैं।

अमेरिका और चीन के बीच बढ़ते टेंशन की वजह से एपल भारत में आईफोन बनाने और यहां से एक्सपोर्ट बढ़ाने पर फोकस कर रही है। इस समय चीन में सबसे ज्यादा आईफोन बन रहे हैं। पिछले 1 साल में कंपनी ने भारत में मैन्युफैक्चरिंग प्लांट खोलकर आईफोन बनाने की शुरुआत की है।

25 देशों में एपल के 500 से ज्यादा ऑफिशियल स्टोर
एपल ने भारत में पहला ऑफिशियल फ्लेगशिप रिटेल स्टोर मुंबई में 18 अप्रैल को खोला था। ये स्टोर रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी के जियो वर्ल्ड ड्राइव मॉल में है। इसके बाद दूसरा स्टोर साउथ दिल्ली के साकेत में 20 अप्रैल को खोला था।

दोनों स्टोर की ओपनिंग टिम कुक ने खुद की थी। इस दौरान टिम कुक ने स्टोर ओपन करने के बाद लोगों से मिले और तस्वीरें भी खिंचवाई। एपल के 25 देशों में 500 से ज्यादा ऑफिशियल स्टोर है। सबसे ज्यादा 272 स्टोर अमेरिका में है।

एपल स्टोर की 5 बड़ी बातें

  • सुपर लार्ज स्टोर: ऑफिशियल स्टोर काफी बड़े होते हैं। इसमें भीड़ होने पर भी किसी भी प्रोडक्ट को देखने के लिए थोड़ा भी इंतजार नहीं करना पड़ता।
  • यूनीक डिजाइन: एपल स्टोर का यूनीक डिजाइन होता है। मुंबई स्टोर का डिजाइन शहर की काली-पीली टैक्सियों से इंस्पायर है। न्यूयॉर्क स्टोर क्यूब शेप का है।
  • तुरंत बिलिंग: प्रोडक्ट खरीदने के बाद बिलिंग के लिए लाइन में लगने की जरूरत नहीं। एपल स्टोर के एम्प्लॉइज बिलिंग के लिए मोबाइल पेमेंट टर्मिनल साथ रखते हैं।
  • डिवाइस कॉन्फिगर: मैकबुक या आईमैक जैसे प्रोडक्ट को आप अपने हिसाब से कॉन्फिगर करा सकते हैं। रिसेलर्स के पास इस तरह की सर्विस नहीं मिलती थी।
  • बेहतर ट्रेड-इन वैल्यू: ये स्टोर बेहतर एक्सचेंज वैल्यू के लिए जाने जाते हैं। आमतौर पर यहां ट्रेड इन वैल्यू अमेजन-फ्लिकार्ट जैसे प्लेटफॉर्म से ज्यादा मिलती है।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here