Thursday, December 2, 2021
HomeHealthGYMप्रेगनेंसी के कितने दिन बाद पीरियड आता है?

प्रेगनेंसी के कितने दिन बाद पीरियड आता है?


प्रेगनेंसी के पुरे नौ महीनों तक मासिक धर्म ना आने की वजह से महिलाओं के मन में यही सवाल रहता है की डिलीवरी के बाद पीरियड कब शुरू होता है पीरियड्स आने की अवधि सभी महिलाओं के लिए अलग-अलग होती है।

प्रेगनेंसी के कितने दिन बाद पीरियड आता है

पीरियड्स फिर से कब आएँगे इसका पता लगाना मुश्किल है, क्योंकि सभी महिलाओं के लिए यह भिन्न होता है। यदि आपके द्वारा शिशु को स्तनपान करवाया जा रहा है तो पीरियड्स आने में समय लगता है।

शिशु को ज्यादा समय तक और रात में भी स्तनपान करवा रही है तो आपके पीरियड्स आने में १ साल भी लग सकता है। अगर स्तनपान नहीं करा रही हैं तो जन्म देने के लगभग ६ से ८ सप्ताह बाद पीरियड्स वापस आ जाते है।

शिशु को अगर फार्मूला दूध पीला रही है तो ५ सप्ताह से ३ महीनों के बीच पीरियड्स शुरू हो जाते है। आप स्तनपान भी करवा रही हैं और आपका शिशु शुरु से ही रात भर सोता है रात में दूध नहीं पीता तो पीरियड्स ३ से ८ महीने में आ जाते है।

जन्म देने के बाद आपके पीरियड्स जल्दी आ गए है और आपकी योनि में प्रसव हुआ है तो डॉक्टर से संपर्क करे।

स्तनपान कराने वाली महिलाओं को पीरियड्स जल्दी क्यों नहीं आते? – Why Don’t Breastfeeding Women Get Their Periods as Quickly?

स्तनपान कराने वाली महिलाओं को पीरियड्स जल्दी नहीं आते इसका कारण है शरीर के हार्मोन। प्रोलैक्टिन नामक हार्मोन ब्रेस्‍ट मिल्‍क बनाता है।

यह प्रजनन हार्मोन को दबा देता है जिसकी वजह से ओवुलेशन नहीं होता है या फर्टिलाइजेशन के लिए एग रिलीज नहीं हो पाते। इस प्रक्रिया के नहीं होने की वजह से पीरियड्स नहीं आते हैं।

क्या मेरे पीरियड मेरे स्तन के दूध को प्रभावित कर सकते है?  – Will My Period Affect My Breast Milk?

पीरियड्स के दौरान बच्चे को दूध पिलाना बिल्कुल भी हानिकारक नहीं है। पीरियड्स में स्तनपान कराना सुरक्षित है। इससे बच्चे को कोई नुकसान नहीं होता है।

मासिक धर्म का आना आपके स्तन के दूध पर बहुत कम प्रभाव डालता है। पीरियड्स शुरू होने से ठीक पहले या कुछ दिनों के लिए कुछ महिलाओं को दूध की मात्रा में अस्थायी गिरावट होती है लेकिन हार्मोन के सामान्य स्तर पर आते ही यह फिर से बढ़ जाता है।

कुछ परिवर्तन जैसे : शिशु कितनी बार दूध पी रहा है इसमें बदलाव, आपके दूध की आपूर्ति में कमी देखी जा सकती है। यह परिवर्तन मामूली ही होते हैं। हार्मोन परिवर्तन से स्तन के दूध की संरचना या बच्चे को इसके स्वाद में बदलाव लग सकता है।

मेरे पीरियड्स प्रसवोत्तर के बाद अलग कैसे हो सकते है? – How Might My Period Be Different Postpartum?

प्रसव होने के बाद की पहली मासिक धर्म की अवधि आपके गर्भवती होने से पहले आने वाली मासिक अवधि से बिल्कुल भिन्न होती है क्योंकि डिलीवरी के बाद शरीर मासिक धर्म के लिए फिर से तैयार होता है। आप कुछ बदलाव का अनुभव कर सकते है।

  • आपके मासिक धर्म में पहले की अपेक्षा अधिक दर्द।
  • पहले से अधिक या कम ऐंठन होना।
  • छोटे खून के थक्‍के आना।
  • भारी प्रवाह।
  • पहले से अधिक रक्तस्राव हो सकता है।
  • प्रसव के बाद कम रक्तस्राव भी हो सकता है।
  • प्रेगनेंसी के बाद पहली मासिक अवधि में ज्‍यादा ब्‍लीडिंग हो सकती है।
  • अनियमित मासिक धर्म

बहुत से मामलों में थाइराइड  के कारण पहली अवधि में ब्लीडिंग ज्यादा हो सकती है। गर्भाशय की परतों में वृद्धि होने के कारण भी ब्लीडिंग ज्यादा होती है। समय के साथ साथ महीने बीतने पर यह समस्या खत्म होने लगती है।

निष्कर्ष

प्रेगनेंसी में कई तरह के शारीरिक परिवर्तन आते है, जिस कारण फिर से मासिक धर्म आने में समय लगता है। अगर आपको इस दौरान कुछ अलग महसूस हो रहा है या किसी तरह की परेशानी आ रही है तो तुंरत डॉक्टर को दिखाए।





Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Today's feeds