Monday, September 26, 2022

எண்ணம் போல் வாழ்க்கை..!

राजू श्रीवास्तव को जिम के दौरान आया हार्ट अटैक, कार्डियोलॉजिस्ट से जानें ऐसी घटनाओं की वजह


हाइलाइट्स

सप्लीमेंट से हार्ट बीट अबनॉर्मल हो जाती है. इससे सडन कार्डियक अरेस्ट हो सकता है.
हार्ट डिजीज से जूझ रहे लोगों को जिम जाकर एक्सरसाइज करने से बचना चाहिए.

Can Gym Cause Heart Attack: अपनी कॉमेडी से फैंस के दिलों पर राज करने वाले कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव को जिम में एक्सरसाइज करते वक्त हार्ट अटैक आ गया. रिपोर्ट्स के मुताबिक ट्रेडमिल पर एक्सरसाइज करते वक्त उन्हें अचानक सीने में दर्द हुआ और वह गिर पड़े. आनन-फानन में उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया है, जहां उनकी कंडीशन स्थिर है. राजू श्रीवास्तव की उम्र 58 साल है और वह बेहतर फिटनेस के लिए जाने जाते हैं. कई मामलों में देखा गया है कि जिम में एक्सरसाइज के दौरान लोगों को हार्ट अटैक या कार्डियक अरेस्ट जैसी कंडीशन आ जाती है. आखिर यह किस वजह से होता है. क्या जिम का हार्ट अटैक से कोई कनेक्शन है? इस बारे में कार्डियोलॉजिस्ट से जरूरी सवालों के जवाब जान लेते हैं.

जिम का हार्ट अटैक से कनेक्शन?
नई दिल्ली के अपोलो हॉस्पिटल की सीनियर कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. वनीता अरोरा के मुताबिक सभी लोगों को जिम जॉइन करने से पहले कार्डियक कंसल्टेंट जरूर करना चाहिए. खासतौर से जिन लोगों की उम्र 30 या 40 साल से ज्यादा है, उन्हें वेट लिफ्टिंग, कार्डियो, वेट ट्रेनिंग, ट्रेडमिल करने से पहले कार्डियोलॉजिस्ट से जरूर मिलना चाहिए. कई बार जिम की वजह से हमारे हार्ट की ईसीजी में बदलाव आते हैं, लेकिन लोग उन्हें नजरअंदाज कर देते हैं. ऐसा करने से हार्ट अटैक आ जाता है. आज के दौर में यंग लोगों में भी कोरोनरी आर्टरी डिजीज हो जाती है, इसलिए हार्ट को लेकर किसी भी उम्र में लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए.

यह भी पढ़ेंः ब्रेन से जुड़ी हुई है ‘टाइप 3 डायबिटीज’ ! मेंटल हेल्थ के लिए बेहद खतरनाक

सप्लीमेंट लेने से बढ़ता है खतरा
डॉ. वनीता अरोरा कहती हैं कि कम समय में बढ़िया बॉडी बनाने के चक्कर में तमाम युवा सप्लीमेंट लेकर जिम करते हैं, लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए. सप्लीमेंट लेने के बाद जिम करने से हार्ट बीट अबनॉर्मल हो जाती है. इससे सडन कार्डियक अरेस्ट हो सकता है. जल्दी से बॉडी बनाने के लिए घंटों जिम में बिताना भी सही नहीं होता. एक्सरसाइज एक लिमिट में करनी चाहिए. जिम भी क्वालिफाइड ट्रेनर के अंडर करनी चाहिए, ताकि परेशानियों से बचा जा सके.

इन लोगों को जोखिम ज्यादा

  • 40 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को खतरा
  • बिना फिजिकल एक्टिविटी वाली लाइफस्टाइल
  • अत्यधिक स्मोकिंग करने वाले लोग
  • हार्ट डिजीज की फैमिली हिस्ट्री वाले लोग
  • अन्य गंभीर बीमारियों से जूझ रहे लोग

हार्ट डिजीज के मरीजों के लिए सलाह
डॉ. वनीता अरोरा के अनुसार हार्ट डिजीज से जूझ रहे लोगों को आमतौर पर जिम जाकर एक्सरसाइज करने की सलाह नहीं दी जाती. वे पार्क में जाकर 40 मिनट में 4 किलोमीटर की वॉक कर फिट रह सकते हैं. हालांकि जो लोग जिम करना चाहते हैं, उन्हें पहले कार्डियोलॉजिस्ट से बात करनी चाहिए. ट्रेडमिल पर 20 मिनट से ज्यादा नहीं बिताने चाहिए. वेट ट्रेनिंग नहीं करनी चाहिए. एरोबिक्स करना चाहते हैं, तो थोड़ी देर करें.

यह भी पढ़ेंः क्या मंकीपॉक्स सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन? हकीकत जान लीजिए

सभी को बरतनी चाहिए ये सावधानियां

  • सप्लीमेंट लेकर जिम न करें
  • कई घंटों तक जिम न करें
  • एनर्जी ड्रिंक्स से करें परहेज
  • कोई परेशानी होने पर जिम बंद करें
  • गैटेरॉयड या नींबू पानी पिएं
  • हेल्दी डाइट का सेवन करें

Tags: Comedian, Health, Heart attack, Lifestyle, Trending news



Source link

Today's Feeds

Want to submit Guest Post ?

Submit your guest / Sponsored Post on below form 👇🏻👇🏻

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Continue reading