Benefits of Wood Apple in summer viv

0
13
Benefits of Wood Apple in summer viv


(विवेक कुमार पांडेय)

आज एक ऐसे पेय पदार्थ की बात करने जा रहा हूं जो गर्मी के दिनों में बहुत ही खास होता है. जी हां, मैं चर्चा कर रहा हूं ‘बेल’ (Wood Apple) की. बेल का फल तो गर्मियों में सामने आता है लेकिन ‘बेल पत्र’ की महत्ता हिंदू रीति रिवाजों में बहुत है. आपने शिवालयों में इसे जरूर ही देखा होगा. आइए बात करते हैं बेल के शर्बत की…

भारत में ही है ऑरिजिन

मान्यता है कि भारत में बेल का ऑरिजिन है. संस्कृत किताबों और वेदों में इसका काफी जिक्र है. खाने-पीने के साथ ही इसके औषधीय गुण भी कई स्थानों पर बताए गए हैं. भारत के इस फल का जिक्र चाइनीज विद्वानों ने भी अपनी किताबों में किया है. आजकल यह थाईलैंड, मलेशिया, कोलंबिया और अन्य साउथ ईस्ट एशिया में उगाया जा रहा है.इसे भी पढ़ेंः ये ‘खस’ है बहुत खास, फायदे सुन पीना कर दें शुरू

पूरे देश में उगाया जाता है

भारत में खासकर इसकी फसल मैदानी इलाकों में होती है. लेकिन उत्तर से लेकर दक्षिण तक इसे उगाया और खाया जाता है. महाराष्ट्र, केरल, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, मध्य प्रदेश आदि में इसे उगाया जाता है. हालांकि अपने गुणों के हिसाब से इसे भी वह महत्ता नहीं मिल पाई है. इसका इस्तेमाल अगर हो तो कई बीमारियों से छुटकारा पाया जा सकता है.

खाया भी जाता है, पिया भी

दरअसल इसे कई लोग सीधे खाते भी हैं. पके हुए बेल को फोड़ कर उसमें का गूदा खाया जाता है. इसके साथ ही गूदे को निकाल कर उसे घोल कर शरबत भी बनाया जाता है. इसका मुरब्बा भी बनाया जाता है. उत्तर भारत में ठेलों पर आप देख सकते हैं कि बेल का शर्बत मिल रहा है. हालांकि, इसे अभी वो पॉपुलैरिटी नहीं मिली है जिसका यह हकदार है.

बेल के शर्बत के फायदे

एक बात मैं शुरू में ही साफ कर दूं कि डायबटीज की मरीजों के लिए बेल का शर्बत उचित नहीं माना जाता है. हालांकि, बिना चीनी डाले अपने डाक्टर के सलाह के साथ इसका थोड़ा सेवन डायबटिक लोग कर सकते हैं. तो आइए जानते हैं आपके शरीर को क्या-क्या फायदे देता है यह बेल …

इसे भी पढ़ेंः गर्मी भगाने का एक ‘नैचुरल’ उपाय है नारियल पानी, टेस्टी भी और हेल्दी भी

– बेल पेट को बहुत ठंडा रखता है

– आसानी से पच जाता है

– गैस और कब्ज की समस्या में लाभकारी

– इसमें प्रोटीन, बीटा-कैरोटीन, थायमीन, राइबोफ्लेविन और विटामिन C अच्छी मात्रा में होता है

– खून साफ करने में भी मददगार माना गया है

– पेड़ से टूटने के बाद भी कई दिन तक सुरक्षित





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here