Home Latest Feeds Technology News Byju’s may sell American kids reading platform ‘Epic’ | इससे कंपनी को लोन चुकाने में मदद मिलेगी, वित्तीय स्थिति सुधरेगी

Byju’s may sell American kids reading platform ‘Epic’ | इससे कंपनी को लोन चुकाने में मदद मिलेगी, वित्तीय स्थिति सुधरेगी

0
Byju’s may sell American kids reading platform ‘Epic’ | इससे कंपनी को लोन चुकाने में मदद मिलेगी, वित्तीय स्थिति सुधरेगी

[ad_1]

नई दिल्ली7 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

भारत की एजुकेशन-टेक्नोलॉजी कंपनी बायजूस अपने अमेरिकी किड्स डिजिटल रीडिंग प्लेटफॉर्म ‘एपिक’ को लगभग 400 मिलियन डॉलर (करीब 3 हजार करोड़) बेचने के लिए जोफ्रे कैपिटल लिमिटेड से बात कर रही है। इसके जरिए कंपनी फाइनेंशियल चैलेंजेस को कम करना चाहती है। ब्लूमबर्ग ने अपनी एक रिपोर्ट में इसके बारे में जानकारी दी है।

रिपोर्ट के अनुसार, एपिक को खरीदने के लिए जोफ्रे कैपिटल लिमिटेड के अलावा डुओलिंगो इंक सहित अन्य कंपनियों ने भी इच्छा जताई है। हालांकि, अभी तक इसके बारे में किसी भी कंपनी ने ऑफिशियल तौर पर जानकारी नहीं दी है।

क्रिएशन्स इंक. के लोन पेमेंट में मदद मिलेगी
एपिक की बिक्री से जुटने वाले फंड से बायजूस को क्रिएशन्स इंक. के 1.2 मिलियन डॉलर (करीब ₹9 करोड़) के कॉन्ट्रोवर्सियल लोन पेमेंट में मदद मिलेगी। रिपोर्ट में यह जानकारी मामले से परिचित लोगों के हवाले से दी गई है।

दरअसल, कोविड महामारी के दौरान ग्लोबल एक्विजिशन की होड़ में इस्तेमाल किए गए टर्म लोन के पेमेंट में देरी को लेकर बायजूस का क्रेडिटर्स के साथ विवाद चल रहा है। इससे पहले सितंबर में ब्लूमबर्ग ने अपनी रिपोर्ट में बताया था कि बायजूस ने प्रॉपर्टी की सेल्स के माध्यम से 6 महीने से भी कम समय में पूरे 1.2 बिलियन डॉलर का लोन चुकाने का प्रस्ताव रखा है।

साल 2011 में रवींद्रन ने थिंक एंड लर्न नाम से अपनी एडटेक कंपनी की शुरुआत की थी।

साल 2011 में रवींद्रन ने थिंक एंड लर्न नाम से अपनी एडटेक कंपनी की शुरुआत की थी।

एपिक की बिक्री का मैनेजमेंट मोएलिस एंड कंपनी के पास
मोएलिस एंड कंपनी एपिक की बिक्री का मैनेजमेंट कर रही है और इस महीने के डील फाइनल हो सकती है। हालांकि, बायजूस ने अभी तक कोई अंतिम फैसला नहीं लिया है।

2021 में बायजूस ने एपिक का किया था अधिग्रहण
बायजूस ने अपने ग्लोबल एक्सपेंशन के रूप में 2021 में एपिक का अधिग्रहण 500 मिलियन डॉलर में किया था। लगभग 10 साल पहले स्थापित हुई एपिक में 40 हजार से ज्यादा किताबों को ऑनलाइन एक्सेस किया जा सकता है।

बायजूस को वित्त वर्ष 2022 में ₹2,250 करोड़ का घाटा
दो दिन पहले ही बायजूस ने 31 मार्च 2022 को खत्म हुए वित्त वर्ष के नतीजे जारी किए हैं, जिसमें कंपनी को 2,250 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है। जबकि एक साल पहले कंपनी को 2406 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था।

हालांकि, कंपनी की इनकम ₹1,552 करोड़ से बढ़कर ₹3,569 करोड़ रही। फाइनेंशियल रिजल्ट जारी करने में देरी सहित कई अन्य कारणों से कंपनी रेगुलेटरी जांच के घेरे में है।

बायजू रवींद्रन बोले- फाइनेंशियल ईयर 2022 ने हमें बहुत कुछ सिखाया
फाउंडर और CEO बायजू रवींद्रन ने नतीजे जारी होने के बाद कहा था, ‘उठापटक से भरे फाइनेंशियल ईयर 2022 ने हमें बहुत कुछ सिखाया है। इस साल हमने 9 एक्विजिशन किए हैं, जो दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती इकोनॉमी भारत में एजुकेशन टेक्नोलॉजी की पोटेंशियल को हाइलाइट करता है।

कोरोना महामारी के बाद दुनिया में बहुत कुछ बदला है, यह हमें बहुत कुछ सिखा गया है। आने वाले सालों में बायजू सस्टेनेबल और प्रॉफिटेबल ग्रोथ के साथ आगे बढ़ेगा।’

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here