HomeLatest FeedsTechnology NewsGoogle Chrome users will get more security | गूगल क्रोम में यूजर्स...

Google Chrome users will get more security | गूगल क्रोम में यूजर्स को मिलेगी ज्यादा सेफ्टी: कंपनी बैकग्राउंड सिक्योरिटी चैक फीचर कर रही अपडेट, पासवर्ड ब्रेक होने पर करेगा अलर्ट


नई दिल्ली1 दिन पहले

  • कॉपी लिंक

टेक कंपनी गूगल ने वेब ब्राउजर गूगल क्रोम में ‘सेफ्टी चेक’ फीचर को अपडेट करने जा रही है। ये फीचर यूजर्स की प्राइवेसी और सेफ्टी के लिए अब बैकग्राउंड में ऑटोमेटिक सिक्योरिटी चैक करेगा।

नए गूगल क्रोम अपडेट के अनुसार, यदि क्रोम में सेव किए गए यूजर के किसी भी पासवर्ड से छेड़छाड़ की जाती है या कोई इसे ब्रेक करने की कोशिश करता है या फिर दूसरे डिवाइस में इस्तेमाल करता है तो ये फीचर आपको ऑटोमेटिक नोटिफिकेशन भेजकर अलर्ट कर देगा। यह अपडेट यूजर के ऑनलाइन अकाउंट्स को सिक्योर रखने के लिए किया गया है।

बैकग्राउंड में एक्टिव रहेगा फीचर
कंपनी ने बताया कि वह गूगल क्रोम के सेफ्टी चेक फीचर को बेहतर बना रही है। नए अपडेट के बाद यह फीचर बैकग्राउंड में एक्टिव रहेगा और अगर उसे कोई सिक्योरिटी में कोई खामी नजर आती है तो यूजर्स को इसके बारे में इन्फॉर्म कर देगा। अभी तक यूजर्स को इस फीचर को एक्टिवेट करना पड़ता था।

वेबसाइट से अपने आप एक्सेस हटाएगा
गूगल का सेफ्टी चेक फीचर उन वेबसाइट पर भी नजर रखता है, जिन्हें यूजर ने पहले परमिशन दी थी और अब उनका इस्तेमाल नहीं करता। ऐसे सभी वेबसाइट से ये फीचर अपने-आप एक्सेस हटा देगा और यूजर को इसकी जानकारी भी देगा, ताकि डेटा सेफ रहे।

गूगल क्रोम में जल्द ही ये फीचर भी मिलेंगे
सेफ्टी चेक के अलावा कंपनी गूगल क्रोम यूजर्स के लिए कई नए फीचर पर काम कर रही है। इसमें जल्द यूजर्स ग्रुप्स किए गए टैब्स को सेव कर पाएंगे। इससे इन्हें अलग-अलग डिवाइस में आसानी से यूज किया जा सकेगा। कंपनी इस फीचर को कुछ हफ्तों में रोलआउट कर सकती है।

इसका फायदा यह होगा कि यूजर्स अगर किसी दूसरे डिवाइस से इसे एक्सेस करते हैं तो उन्हें नई टैब्स खोलने की जरूरत नहीं होगी और वो वहीं से काम शुरू कर सकेंगे, जहां उन्होंने पहले डेस्कटॉप पर छोड़ा था।

डेस्कटॉप पर क्रोम की स्मूथली रन कराने के लिए मेमोरी सेवर मोड को एक्सपेंड किया गया है। यह एक टैब की मेमोरी यूज के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान करता है और यूजर्स को इन्फॉर्म करता है कि क्या किसी वेबसाइट को ‘हमेशा एक्टिव रहना चाहिए।’

जेमिनी AI के फीचर्स भी जल्द मिलेंगे
कंपनी ने कहा है कि वह ब्राउजर में अगले साल से जेमिनी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) के फीचर्स भी देगी, ताकि एक्पीरियंस को और बेहतर बनाया जा सके। कंपनी ने हाल ही में जेमिनी को लॉन्च किया था।

ये भी पढ़ें
गूगल ने सबसे पावरफुल AI मॉडल जेमिनी लॉन्च किया:इंसानों की तरह सोच-समझ सकता है ये टूल, चैटजीपीटी को टक्कर देगा​​​​​​

टेक कंपनी गूगल ने चैटजीपीटी को टक्कर देने के लिए अपने नए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) मॉडल, जेमिनी (Gemini) को लॉन्च कर दिया है। ये AI टूल इंसानों की तरह व्यवहार करने के लिए डिजाइन किया गया है। गूगल का दावा है कि जेमिनी समझने, तर्क करने, कोडिंग और प्लानिंग करने जैसे कामों में अन्य मॉडलों से बेहतर तरीके से करता है।

कंपनी के CEO सुंदर पिचाई ने कहा कि यह गूगल में AI के एक नए युग की शुरुआत है। उन्होंन इसे जेमिनी युग बताया। जेमिनी गूगल का लेटेस्ट लार्ज लैंगवेज मॉडल (LLM) है। पिचाई ने पहली बार जून में I/O डेवलपर कॉन्फ्रेंस में इसे टीज किया था और अब इसे पब्लिक के लिए लॉन्च किया है। इसे तीन वर्नज- प्रो, अल्ट्रा और नेनो में पेश किया गया है।

पूरी खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें

खबरें और भी हैं…
Mr.Mario
Mr.Mario
I am a tech enthusiast, cinema lover, and news follower. and i loved to be stay updated with the latest tech trends and developments. With a passion for cyber security, I continuously seeks new knowledge and enjoys learning new things.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read